बाबा साहेब के विचार आज भी प्रासंगिक -श्रीनाथ सिंह 

बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर ने विजयादशमी के दिन धम्म दीक्छा लेकर अपने अनुयायिको को एक साथ कई सन्देश दिए.बाबा साहेब की ६१ वी धम्म दीक्षा समारोह नागपुर में भाग लेने हेतु भारतीय बोद्ध महासभा के सदश्य भारी मात्रा में नागपुर के लिए प्रस्थान करेंगे .यह बाते आंबेडकर भवन पर आयोजित कार्यक्रम पर बोधिसत्व बाबा साहब डॉ.बीआर आंबेडकर संस्था के प्रदेश अध्यछ श्रीनाथ सिंह बौद्ध न्र कही.श्रीनाथ ने कहा की बाबा साहब जात पात के घोर विरोधि होने के साथ उनके विचार ओरो से अलग थे.बाबा साहब ने मनुवादियों की साजिस से हजारो वर्ष लुप्त हो चुके बौद्ध की दीझा अपने लाखो अनुयायियो के साथ 14 अक्टूबर 1956 को नागपुर में ली.जिस कारण प्रति वर्ष बाबा साहेब के सम्मान में धम्म क्रांति दिवस के रूप में मनाया जाता है.मौके पर मुकेशकुमार,डॉ सत्यनारायण शर्मा,अरुण कुशवाहा,डॉ.एम् पाल,अरुण नटराज सहित कई लोग मौजूद थे.

baba-saheb

Comments are closed.