“सरकार की बिना तैयारी के निर्णय के कारण देश में अफरा तफरी का माहौल बना है”- नीरज भारद्धाज

कटिहार(बिहार)।आज पूरे देश में नोट को बदलने के लिए अफरा तफरी का माहौल बना हुआ है।रातों रात ५०० और १००० नोट बंदी के कारण लोग ट्रैन में,रेलवे स्टेशन,होटल,गांव में फंस गए और अब घंटों बैंकों की क़तार में खड़े रहने के बाद भी नया नोट काफी लोगों को नहीं मिल पा रहा है,लोगों को शादी, ब्याह,कार्यक्रम करने में दिक्कतआ रही है।सबसे बड़ी बात है आज लोगों को भोजन, चाय, सब्जी इत्यादि में दिक्कत आ रही है।कई लोगों की मौत भी हो गई है।जिसका कारण मोदीजी के बिना तैयारी के नोट बंदी,जोकि कोई नयी सोच नहीं है। यह डॉ.बाबा साहेब आम्बेडकर ने बर्षों पहले कहा था कि यदि देश में ज्यादा काला धन हो जाय तो विमुद्रीकरण करना चाहिए।ऐसा कहना है कई हिंदी फिल्मों और कई भोजपुरी फिल्मों में भी बतौर हीरो काम करने वाले तथा धारावाहिक ‘साथ निभाना साथिया’ में पिछले ६ वर्षों से चिराग मोदी उर्फ़ मोटा भाई की भूमिका निभानेवाले और गाँव कटिहार (बिहार) के रहनेवालेबहुमुखी प्रतिभाशाली एक्टर नीरज भारद्धाज ने बॉलीवुड में बिहार का नाम रोशन किया है।का।

neerajhardwaj1 neerajhardwaj2

फिल्म और टीवी अभिनेता नीरज भारद्धाज कहते है,” सरकार के पास इतने बड़े बड़े अर्थशाष्त्री है,उनसे सलाह करनी चाहिए था। कुछ नहीं तो सरकार को घोषणा करना चाहिए था कि देश में दो हज़ार का नया नोट आ रहा है और पाँच सौ का नया नोट आ रहा है। जोकि लोगों को बैंकों में इस तारीख से मिलेगा और उसके बाद नोट छापकर जिस तरह दो दिन बैंक बंद किया था,बंद करके बैंकों में और एटीएम को दुरुस्त करके उसमें भी पंहुचा देते और बाद में नोट बंदी करते तो यह ना होता।सरकार की बिना तैयारी के निर्णय के कारण देश में अफरा तफरी का माहौल बना है। आज मैं क्या,देश क्या?संसार में किसी से पूछेंगे तो सभी कहेंगे कि वे काले धन, भ्रष्टाचार, आतंकवाद के खिलाफ है। मैं और पूरा देश मोदीजी का समर्थ करते है,लेकिन यह सरकार की बिना तैयारी के निर्णय देश की जनता के साथ खिलवाड़ जैसा है।आज जो बाज़ारों में प्रतिदिन करोड़ों का नुकसान हो रहा है और पता नहीं कितने महीने में सुधरेगा? क्या वह वापस आएगा? हर दिन नई-नई घोषणा होती है,कहाँ तक आम आदमी सरकार की घोषणा पर भरोसा करे?”

आगे नीरज भारद्धाज कहते है,”आज देश की पूरी जनता अपने खून पसीने की कमाई लेने के लिए प्रतिदिन काम धंधा छोड़कर लाइन में कड़ी है, जबकि सरकार को पता है कि काला धन केवल २५ प्रतिशत लोगों के पास है।आज जो विरोध करे वह मोदी के खिलाफ है,वह देश भक्त नहीं है,अरे भाई कोइ भी उनके खिलाफ नहीं है,सरकार की नीतिओं के खिलाफ है। कुछ गन्दी मछली पकड़ने के लिए पूरा तालाब सुखाना कहा की अकलमंदी है?आजकल आता है कि देश के लिए परिवार छोड़ दिया। तो क्या सभी लोग अपने परिवार को छोड़ दे?सभी लोग अपनी जिम्मेदारी तो छोड़कर नहीं भाग सकते है। ना मैं कांग्रेसी हूँ और ना ही बीजेपी का हूँ, जो जनता के हित में काम करे मैं उसके साथ में हूँ।भाषण,घोषणा और प्रचार बहुत हो गया,अब लोगों को एक्शन चाहिए जिससे उनको राशन मिले और ठीक से खा पी सके।”

——————–Sanjay Sharma Raj (P.R.O.)

Comments are closed.