५५ वालो समझौता करना सिख लो

आप अपने घर में सबसे उम्र दराज और अनुभव वाले व्यक्ति है, लेकिन अब समय बदल गया है,आप अब बड़े नहीं रह गए बच्चे आपसे उम्र में छोटे होते हुए भी बड़े हो गए है, आपकी बात अब कोई नहीं सुनेगा फिर भी अगर बोलोगे ,सलाह दोगे या टोकोगे तो आपको हर तरफ से सुनने को मिलेगा, इसलिए समझौते को अपने साथ लेके चलो सबको अपने मन का करने दो,कही गलत सुनते हो या कहि गलत देखते हो,आँख बंद कर लो और हर स्थिति में अपना मुँह को बंद रखो, कभी किसीको सिखाने ने की कोशिश मत करो,उनकी तारीफ करो और अपने काम को स्वयं करना सीखो,और गलत होता हुवा देखकर भी नज़र अंदाज़ करो, सबके साथ उनका मन पढ़कर ही व्यव्हार करो और अपने नाती पोते को भी उनका मिज़ाज़ देख कर प्यार करो,अपने आप में जीवन जीने की कला सिख लो,अगर दिल में कोई जख्म  उभरता है तो उसे दबाकर हँसने की कोशिश करो!

                  क्या नहीं मिला उसकी शिकायत न करके जो मिल रहा है उसी में जीवन जीने की कला सिख लो आप अपने पुराने दिनों को यद् करके अपने पुराने घाव को जिन्दा मत करो,समय बदल गया है अपने भले ही अपने जीवन साथी का इतना आदर न दिया हो अब उसे देना सिख लो, उसकी कदर करना सीखा लो कियूकि  अब वह  आपके काम आने वाली है और आप किसी भी कीमत पर उसका विश्वास मत तोड़ो,उससे झगडा मत करो उसे इतना प्यार दो की वह हमेशा आपकी ही परवाह करे !

                  बुढ़ापे में वही एक वह शक्स है जो आपके सुख दुःख में बराबर की भागीदार होगी और जीवन पर्यन्त साथ निभाएगी प्यार के रिश्ते ही सच्चे होते है,इसलिए अपने आप को और अपने जीवन साथी को पहचानो और साथ साथ रहना  सिख लो, वक्त बिताने के लिए किताबे पड़ना और लिखना शुरू कर लो, यह सब आपको खली समय में तो साथ देंगे ही इससे आपके ग्यान में भी बढ़ोतरी होगी!

                       शिकवा और शिकायत किसी से और किसीको न करो सब लोगो की शिकायते अपने आप दूर हो जाएंगी,जवानी में दिल लगाया हो या न लगाया हो बुढ़ापे में अपने जीवन साथ को दिल भरके प्यार करो  !

               पहले जीवन साथी जायेगा या आप यह तो भगवन के ऊपर है, इसलिए अकेले जीना भी सिख लो न कोई साथ आया था न कोई साथ जायेगा, दिल से जुड़े रिश्ते हमेशा यद् रहेंगे, और याद किये  जायेंगे शिकायत शिकवों का समय अब नहीं है,जो है जैसा है सबसे सम्झौता करना सिख लो इसी में जीवन का सार है !!

महेश प्रभु ओझा

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *